राज्य

गलत इंजेकशन लगने से सिपाही की हालत गम्भीर

उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर में चुनाव कार्यलय में तैनात लगभग 28 वर्षीय सिपाही अजमत उल्ला खा. यह सिपाही 11 अक्टूबर को बुखार से पीडि़त होने पर जिला अस्पताल की एमरजेंसी में उपचार के लिए आया था

एमरजेंसी में तैनात डॉक्टर ने सिपाही का उपचार करते हुए इंजेकशन लगा कर चलता कर दिया। लेकिन सिपाही को आराम तो दूर उसकी हालत और बिगड़ गयी। 

अगले दिन वह फिर जिला अस्पताल में इलाज के लिए गया तो उसके शरीर में सूजन बढ़ रही थी। 

जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने उसको इंजेक्शन लगा दिया लेकिन शरीर का सूजना बंद नही हुआ तो  सिपाही को रेफर कर दिया गया।  

परिजन सिपाही को मेरठ के निजी अस्पताल में भर्ती कराया  हालत इतनी बिगड़ गयी की सूजन कम करने के लिए मेरठ के निजी अस्पताल में सिपाही अजमत उल्ला खान का ऑपरेशन किया गया । 

लेकिन उसके बाद सिपाही के सारे शरीर में सेप्टिक फैलने के शिकायत सामने आई।  जिस पर सिपाही को दिल्ली अपोलो  में रेफर कर दिया गया।  

सिपाही अब भी मौत और जिंदगी के बीच वेन्टिलेटर पर है। 

उसके अन्य वाइटल पार्ट्स इन्फेक्शन की चपेट में आ गये है।  परिजन बुलंदशहर अस्पताल के डॉक्टर पर लापरवाही और गलत इंजेकशन का आरोप लग रहे है। जबकि बुलंदशहर  अस्पताल प्रशासन किसी भी लापरवाही  से पल्ला झाड़ रहा है।   

सिपाही के शरीर के कई फोटो उन्होंने मीडिया को भेजे है। 

Rohit Sharma

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button