राज्य

पंजाब में बवाल के पीछे गहरी साजिश: प्रकाश सिंह बादल

गुरदासपुर (पंजाब): सिखों की पवित्र पुस्तक गुरु ग्रंथ साहिब के अनादर की वजह से पंजाब में व्याप्त तनाव के बीच मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा है कि वह “कुछ ऐसी शक्तिशाली ताकतों द्वारा की जा रही गहरी साजिश को” देख रहे हैं जिनकी कोशिश राज्य में फिर से आतंकवाद को जिंदा करने की है।

बादल ने कहा, “राज्य की दुश्मन कुछ ताकतें पंजाब में बेहद मेहनत से हासिल की गई शांति को नेस्तनाबूद करने पर तुली हुई हैं।”

बादल ने गुरदासपुर के दादू जोध गांव में एक समारोह के बाद संवाददाताओं से कहा, “यह कुछ ताकतों द्वारा रची जा रही बेहद गहरी साजिश है। इनकी कोशिश राज्य में फिर से काले दिनों (आतंकवाद) को दोहराने की है।”

बादल ने कहा, “अतीत में भी यही एजेंसियां संप्रदाय के आधार पर लोगों को विभाजित कर चुकी हैं। एक बार फिर ये एजेंसियां इस तरह की घटनाओं के जरिए लोगों के बीच खाई खोदने का काम कर रही हैं। लेकिन, यह पंजाबियों की नैतिक जिम्मेदारी है कि वे राज्य के सभी धर्मस्थलों पर सतर्क निगाह रखकर इन नापाक कोशिशों को नाकाम कर दें।”

पवित्र ग्रंथ के अपमान के खिलाफ दक्षिण-पश्चिम पंजाब में प्रदर्शन के दौरान दो लोगों की मौत हो गई थी और कई अन्य घायल हुए थे। मालवा क्षेत्र में हालात अभी भी तनावपूर्ण बने हुए हैं। बीते एक हफ्ते से यहां प्रदर्शन हो रहे हैं और रास्ता रोका जा रहा है।

प्रदर्शनों की अगुआई चरमपंथी सिख संगठन कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने सभी राजनैतिक दलों से राज्य को धार्मिक संघर्षो के दौर में धकेलने की हर कोशिश के खिलाफ मिलकर काम करने की अपील की।

बादल ने लोगों से आंदोलन की राह छोड़ने की अपील की।

उन्होंने कहा, “(पवित्र ग्रंथ के) अपमान का घृणित काम करने वालों को कानून के शिकंजे तक लाने के लिए राज्य सरकार हर संभव उपाय कर रही है। गुरु ग्रंथ साहिब के अनादर से हर सिख की आत्मा आहत हुई है, लेकिन संकट के इस समय में हमें धैर्य से काम लेना होगा और राज्य को विकास और प्रगति के पथ से हटाने के विघटनकारी ताकतों के मंसूबों को नाकाम करना होगा।”

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button