राज्य

लोगों से धार्मिक सद्भाव बनाये रखने की अपील करने वाला प्रस्ताव जम्मू कश्मीर विधानसभा में पारित

श्रीनगर: गौमांस के मुद्दे पर भाजपा सदस्यों द्वारा एक निर्दलीय विधायक को पीटने की घटना के एक दिन बाद जम्मू-कश्मीर विधानसभा ने आज सर्वसम्मति से उमर अब्दुल्ला द्वारा लाये गये एक प्रस्ताव को पारित कर दिया जिसमें राज्यवासियों से धार्मिक सद्भाव बनाये रखने की अपील की गयी है।

प्रश्नकाल समाप्त होने के तुरंत बाद विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि राज्य में सौहार्द और सद्भाव के माहौल को बिगाड़ने के लिए जानबूझकर प्रयास किये जा रहे हैं।

विधायक शेख अब्दुल राशिद पर कल हुए हमले का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि यह राज्य का असली चेहरा नहीं है और लोगों को सद्भाव और भाईचारा बनाये रखने का संदेश देने के लिए विधानसभा को एक प्रस्ताव पारित करना चाहिए। मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने तत्काल अब्दुल्ला के सुझाव का समर्थन किया और इस पहल के लिए उनकी तारीफ की।

अब्दुल्ला ने कहा कि कल जो कुछ भी हुआ वह जम्मू कश्मीर का असली चेहरा नहीं है। उन्होंने कहा कि बंटवारे के समय महात्मा गांधी को भी राज्य में आशा की एक किरण दिखी थी।

उन्होंने कहा ये कश्मीर के लोग थे जिन्होंने हाथों में खिलौना बंदूक लेकर हमलावर खबरदार, हम कश्मीरी हैं तैयार और हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई आपस में हैं भाई-भाई का नारा दिया था।

उन्होंने कहा कि राज्य में धार्मिक सद्भाव को बिगाड़ने के प्रयास किये जा रहे हैं।

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button