राज्य

पवित्र पुस्तक की अपवित्रता पर सिखों का विरोध जारी

चंडीगढ़: सिख प्रदर्शनकारियों ने अपनी पवित्र पुस्तक के अपवित्रता के विरोध में रविवार को भी पंजाब के मालवा क्षेत्र में प्रदर्शन जारी रखा और सड़क जाम किया। सिख प्रदर्शनकारियों के हाथों में काले झंडे, तख्तियां, तलवारें और डंडे थे।

हालांकि सड़क जाम का समय सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक ही रखा गया, ताकि लोगों को बहुत अधिक असुविधा न हो।

पिछले सप्ताह इस प्रदर्शन के कारण मालवा क्षेत्र में सामान्य जनजीवन काफी प्रभावित हुआ था। पुलिस के अनुसार, इसका सबसे अधिक प्रभाव मोगा, फरीदकोट और बठिंडा में देखा गया। 

प्रदर्शकारियों की मांग है कि पवित्र पुस्तक को अपवित्र करने वालों के खिलाफ कार्रवाई हो।

गौरतलब है कि बरगारी गांव में 12 अक्टूबर को एक गुरुद्वारे के पास के इलाके में पवित्र पुस्तक ‘बीर’ (पवित्र पुस्तक) के 100 से अधिक पन्ने फटे और बिखरे हुए पाए गए थे। जून में गुरुद्वारे से इस पुस्तक की चोरी की गई थी।

पुस्तक की अपवित्रता को लेकर बुधवार को पुलिस और सिख प्रदर्शनकारियों के बीच फरीदकोट जिले के कोटकपुरा कस्बे के पास हुई झड़प में दो लोगों की मौत हो गई और 70 लोग घायल हो गए। घायलों में पुलिसकर्मी भी शामिल थे।

दोनों मृतकों का अभी अंतिम संस्कार किया जाना बाकी है। 

पंजाब के मुख्यमंत्री, प्रकाश सिह बादल ने शनिवार को अमृतसर में स्वर्ण मंदिर में शांति व सांप्रदायिक सद्भाव के लिए प्रार्थना की। 

कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह ने शनिवार को मृतकों के परिजनों से मुलाकात की। 

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button