राज्य

निर्वाचन आयोग ने पूर्वी चंपारण के जिलाधिकारी से कुशवाहा मामले में रिपोर्ट तलब की

पटना: निर्वाचन आयोग ने उस स्टिंग ऑपरेशन के मामले में पूर्वी चंपारण के जिलाधिकारी से रिपोर्ट तलब की है जिसमें कथित तौर पर बिहार के मंत्री अवधेश प्रसाद कुशवाहा को एक व्यवसायी से चार लाख रूपये लेते हुए दिखाया गया है।

अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी आर लक्ष्मणन ने बताया कि इस मामले में जिलाधिकारी से शीघ्र रिपोर्ट तलब की गई है। ‘‘हम :जांच: रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद कार्रवाई करेंगे।’’ इस बीच, बिहार में भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने संवाददाताओं को बताया कि नीतीश कुमार सरकार का सच सामने लाने के लिए मामले की सीबीआई जांच का आदेश दिया जाना चाहिए।

बिहार के नगर विकास और निबंधन एवं मद्य निषेध मंत्री अवधेश प्रसाद कुशवाहा ने कल नीतीश कुमार मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। यह इस्तीफा उन्होंने सोशल साइट्स पर एक वीडियो के वायरल होने के बाद दिया जिसमें उन्हें मुंबई के एक व्यवसायी से कथित तौर पर चार लाख रूपये बतौर रिश्वत लेते हुए दिखया गया था।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह के साथ कल रात्रि संवाददाताओं को बताया था कि स्टिंग ऑपरेशन को समाचार चैनलों पर दिखाए जाने के तुरंत बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अवधेश प्रसाद कुशवाहा से बातचीत की और उनकी भी उनसे बात करवायी जिसके बाद कुशवाहा से त्याग पत्र ले कर उसे राजभवन भेज दिया गया ताकि राज्यपाल उसे स्वीकार कर लें।

पार्टी ने पूर्वी चंपारण जिले के पिपरा विधानसभा क्षेत्र से कुशवाहा को टिकट दिया था।

यादव ने बताया कि उनकी पार्टी ने स्टिंग ऑपरेशन को सही माना है और पिपरा विधानसभा क्षेत्र से कुशवाहा की जगह किसी दूसरे को नामांकन की अंतिम तिथि आगामी 14 अक्तूबर के पूर्व नया उम्मीदवार घोषित किए जाने के लिए जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह से पार्टी में विचार-विमर्श करने का आग्रह किया गया है। बिहार विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत पिपरा विधानसभा क्षेत्र में आगामी एक नवंबर को मतदान होना है।

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button