खासम-ख़ास

देश के 90 फीसदी लोगों को धर्म नहीं, रोटी से मतलब

लखनऊ: पिछड़ा समाज महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एहसानुल हक मलिक व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एडवोकेट देवेंद्र सिंह का कहना है कि आज सभी राजनीतिक दलों को न तो देश से मतलब है और न ही जनता से।

देश के 90 प्रतिशत लोगों को हिंदू, मुस्लिम या मंदिर-मस्जिद से कोई लेना देना नहीं है, लेना देना है तो सिर्फ रोटी से, जो छीनी जा रही है। (18:35) 

मलिक व सिंह ने एक साझा बयान में यहां सोमवार को कहा कि चुनाव में बड़े-बड़े वादे कर पार्टियां सत्ता में आ तो जाती हैं, पर उनका चुनाव घोषणापत्र ‘झूठ का पुलिंदा’ साबित होता है।

उन्होंने कहा कि जनता से किए गए वादे को पूरा न कर पाने की वजह से कभी लव जिहाद, कभी गोहत्या को लेकर दंगे और कभी दलित तो कभी मुस्लिम जनसंहार कराना इन पार्टियों के लिए आम बात हो गई है। 

दोनों नेताओं ने कहा कि अब वह दिन दूर नहीं है, जब देश की जनता देश को तोड़ने वालों से हिसाब लेगी और हत्या कराने वालों को सामूहिक रूप से सजा भी देगी। 

उन्होंने कहा कि देश के 90 प्रतिशत लोगों को हिंदू, मुस्लिम या मंदिर मस्जिद से कोई लेना देना है। लेना देना है तो रोटी से जो छीनी जा रही है। दोनों नेताओं ने देश के शांतिप्रिय लोगों और धर्मनिरपेक्ष लोगों से अपील की है कि इससे पहले कि देश भूख की आग में जले, सभी को पहल करनी होगी, ताकि देश में शांति और बंधुत्व का माहौल पैदा हो सके। देश की तरक्की और जनता की खुशहाली इसी में है कि किसी धर्म को लेकर राजनीति न की जाए, निहित स्वार्थ के लिए समाज को बांटा न जाए। 

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button