देश/विदेश

रोहित शर्मा की साहसिक पारी के बावजूद कानपुर एकदिवसीय भारत हारा

कानपुर: रोहित शर्मा (150) के करियर के आठवें शतक और अजिंक्य रहाणे (60) के साथ उनकी शतकीय साझेदारी के बावजूद भारत को रविवार को ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेले गए पांच मैचों की एकदिवसीय सीरीज के पहले और रोमांचक मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के हाथों पांच रनों से हार का सामना करना पड़ा।

ग्रीन पार्क में किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे बड़ी पारी खेलने का श्रेय हासिल करने वाले रोहित ने रहाणे के साथ दूसरे विकेट के लिए 149 तथा कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के साथ चौथे विकेट के लिए 55 रनों की बहुमूल्य साझेदारी को अंजाम दिया लेकिन उनके ये तमाम प्रयास उस समय बेकार साबित हुए, जब 304 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही भारतीय टीम 50 ओवरों की समाप्ति के बाद सात विकेट पर 298 रन ही बना सकी।

रोहित ने 133 गेंदों का सामना कर 13 चौके और छह छक्के लगाए। रहाणे ने 82 गेंदों पर पांच चौके लगाए। विराट कोहली 11 रन बना सके जबकि कप्तान धौनी ने 31 रन बनाए। सुरेश रैना खाता नहीं खोल सके। रोहित का विकेट 269 और रैना का 273 के कुल योग पर गिरा। 

इसके बाद धौनी ने गेंदबाजी के दौरान अपने एक ओवर में 23 रन खर्च करके टीम को मुश्किल में डालने वाले स्टुअर्ट बिन्नी (2) के साथ खुद कमान सम्भाली। वह इसमें काफी सफल भी होते दिख रहे थे लेकिन 297 के कुल योग पर वह आउट हो गए। धौनी ने 30 गेंदों पर एक चौका लगाया।

अंतिम ओवर में भारत को 11 रनों की जरूरत थी। धौनी और बिन्नी ने शुरुआती तीन गेंदों पर चार रन बटोरे लेकिन अगली गेंद पर धौनी आउट हो गए। धौनी के आउट होने के बाद भारत को दो गेंदों पर सात रनों की जरूरत थी। बिन्नी औ भुवनेश्वर कुमार (नाबाद 1) विकेट पर थे। 

धौनी को आउट करने के बाद कागिसू राबाडा ने अगली ही गेंद पर बिन्नी को आउट किया और अपने करियर में दूसरी बार हैट्रिक लेने की कगार पर पहुंच गए। अंतिम गेंद पर भारत को छह रनों की जरूरत थी लेकिन राबाडा ने इस पर कुमार के हाथों सिर्फ एक रन खर्च किया। 

भारत ने अंतिम पांच ओवरों में 40 रन बनाए और चार विकेट गंवाए। दूसरी ओर दक्षिण ने अंतिम पांच ओवरों में 65 रन जुटाए थे। यही फर्क भारत केलिए महंगा पड़ा। दक्षिण अफ्रीका की ओर से राबाडा और इमरान ताहिर ने दो-दो विकेट लिए जबकि फरहान बेहरादीन, मोर्ने मोर्कल और डेल स्टेन ने एक-एक सफलता पाई।

इससे पहले, छक्के के साथ अपने करियर का 21वां शतक पूरा करने वाले अब्राहम डिविलियर्स (नाबाद 104) और फॉफ डू प्लेसिस (62) की बेहतरीन पारियों की मदद से दक्षिण अफ्रीका टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में पांच विकेट पर 303 रन बनाए। 

मैन आफ द मैच चुने गए डिविलियर्स ने कप्तानी पारी खेलते हुए 73 गेंदों का सामना कर पांच चौके और छह छक्के लगाए जबकि प्लेसिस ने 77 गेदों पर पांच चौके और एक छक्का जड़ा।

डिविलियर्स ने 54 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया था और फिर अगले 19 गेंदों पर शतक पूरा किया। डिविलियर्स ने भारत में बीती सात पारियों में पांचवां शतक लगाया है। ग्रीन पार्क में अब तक कुल नौ शतक लगे हैं और डिविलियर्स ने दूसरा सबसे तेज शतक लगाने का श्रेय हासिल कर लिया है।

उनकी इस पारी की बदौलत ही दक्षिण अफ्रीकी टीम ग्रीन पार्क में अब तक का सबसे बड़ा योग खड़ा करने में सफल रही। इससे पहले इस मैदान पर कभी भी किसी टीम ने 300 रनों का आंकड़ा नहीं पार किया था। इससे पहले यहां का 294 रन था, जो भारत ने 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था।

इन दोनों के अलावा फरहान बेहरादीन ने नाबाद 35, क्विंटन डे कॉक ने 29, हाशिम अमला ने 35, डेविड मिलर ने 13 और ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने 15 रन बनाए। बेहरादीन ने 19 गेदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाया।

कॉक और अमला ने पहले विकेट के लिए 45 रन जोड़े। इसके बाद अमला और प्लेसिस ने दूसरे विकेट के लिए 59, प्लेसिस और डिविलियर्स ने तीसरे विकेट के लिए 49, मिलर और डिविलियर्स ने चौथे विकेट के लिए 45, ड्यूमिनी और डिविलियर्स ने पांचवें विकेट के लिए 41 और बेहरादीन तथा डिविलियर्स ने छठे विकेट के लिए 65 रन जोड़े।

भारत की ओर से अमित मिश्रा और उमेश यादव ने दो-दो विकेट लिए जबकि चोट के कारण सीरीज के बाकी बचे मैचों से बाहर हो चुके रविचंद्रन अश्विन को एक सफलता मिली। उमेश ने हालांकि 10 ओवरों में 71 रन लुटाए।

सीरीज का दूसरा मुकाबला 14 अक्टूबर को इंदौर के अहिल्याबाई होल्कर स्टेडियम में खेला जाएगा।

जयंत के सिंह

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button