राज्य

के.लो.नि. वि द्वारा डिसेन्ट्रलाइज्ड ग्रीन वेस्ट रिप्रोसेसर प्लांट शुरू

नई दिल्ली: स्वच्छ भारत अभियान के तहत केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग ने दिल्ली में डिसेन्ट्रलाइज्ड ग्रीन वेस्ट रिप्रोसेसर प्लांट का शुभारंभ किया।

आर.के.पुरम, सेक्टर-1 में के.लो.नि.वि. बागवानी प्रभाग-IV के मुख्य अभियंता भगवान सिंह ने प्लांट का उद्घाटन करते हुए कहा कि यह मशीन प्रतिदिन 2 क्विंटल ग्रीन वेस्ट को री-प्रोसेस करेगी।

अभी तक इस क्षेत्र के पार्कों से निकलने वाली सूखी पत्तियां, टहनियां इत्यादि कूड़े के रूप में इकट्ठा करके, गाडि़यों में लोड करके, वेस्ट डम्पस में डाला जाता था, जिससे प्रदूषण बढ़ता है और डम्प भरता जाता है।

सीपीडब्ल्यूडी के अनुसार इस मशीन से मौके पर ही कूड़े-कचरे का निस्तारण कर न सिर्फ क्षेत्र को स्वच्छ रखने में मदद मिलेगी बल्कि कूड़े-कचरे को लैंड फिल्स साइटों तक ले जाने में होने वाले खर्चे में कमी और डीजल जैसे नेचुरल रिसोर्स की बचत भी की जा सकेगी। जिसका सर्वाधिक असर पर्यावरण पर पड़ेगा और प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी। इससे पहले भी सेंट्रल दिल्ली, ताल कटोरा गार्डन, नेहरू पार्क और बुद्धा पार्क गार्डन पर यह मशीन लगाई जा चुकी है।

आर.के.पुरम, सेक्टर-1 में के.लो.नि.वि. “बागवानी प्रभाग-IV के मुख्य अभियंता भगवान सिंह” ने प्लांट का उद्घाटन करते हुए कहा कि यह मशीन प्रतिदिन एक टन ग्रीन वेस्ट को री-प्रोसेस करेगी। अभी तक इस क्षेत्र के पार्कों से निकलने वाली सूखी पत्तियां, टहनियां इत्यादि कूड़े के रूप में इकट्ठा करके, गाडि़यों में लोड करके, वेस्ट डम्पस में डाला जाता था, जिससे प्रदूषण बढ़ता है और डम्प भरता जाता है।

क्लीन इंडिया वेंचर्स (CIVL) द्वारा निर्मित यह मशीन सभी प्रकार के ग्रीन वेस्ट को अप साइकिल कर उसे ईंधन और जैविक खाद में परिवर्तित कर देती है। इससे न सिर्फ कूड़े का बेहतर प्रबंधन होता है बल्कि प्रदूषण नियंत्रण, रोजगार सृजन और बाय-प्राॅडक्ट के रूप में उपयोगी वस्तुओं का निर्माण भी किया जाता है। सीआईवीएल ने गार्डन वेस्ट, वेजिटेबल वेस्ट और फ़्लावर वेस्ट के रूप में तीन माॅडलों में ग्रीन वेस्ट रिप्रोसेसर मशीन का निर्माण किया है।

इस अवसर पर अलोक गुप्ता, डायरेक्टर, क्लीन इंडिया वेंचर ने कहा कि “आर के पुरम दिल्ली का एक हरित क्षेत्र है। इस मशीन के लगने से न सिर्फ इस क्षेत्र को बल्कि आसपास के क्षेत्र को भी साफ़ सुथरा बंनाने में मदद मिलेगी। स्वछ भारत अभियान में ग्रीन वेस्ट री-प्रोसेसर का भी योगदान होने से इस अभियान में तेज़ी आएगी, साथ ही हम आने वाले वक़्त में दिल्ली-एनसीआर में जल्दी ही 20 मशीनें के करीब स्थापित करेंगे, जिससे स्वछ और हरित भारत बने।”

SaraJhan News Desk

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button