राज्य

बिहार के शिक्षक ‘कुत्तों’ को भी पढ़ाने लायक नहीं: पप्पू यादव

समस्तीपुर: जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और सांसद पप्पू यादव ने समस्तीपुर की एक सभा में एक विवादित बयान देते हुए कहा कि बिहार के सरकारी विद्यालयों में पढ़ाने वाले शिक्षक ‘कुत्तों’ को भी पढ़ाने के लायक नहीं हैं तो वे छात्रों को क्या पढ़ाएंगे।

समस्तीपुर के वारिसनगर विधानसभा क्षेत्र के किसनपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बिहार के 4़2 प्रतिशत विद्यालयों में शिक्षक नहीं हैं और जहां शिक्षक हैं भी वहां पढ़ाने के लायक नहीं हैं। 

यादव ने कहा कि अगर उनका मोर्चा सत्ता में आया तो राज्य में संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की तर्ज पर परीक्षा कराकर शिक्षकों की भर्ती की जाएगी और उनको प्रतिमाह 50,000 रुपये से ज्यादा का वेतन दिया जाएगा, जिससे उनका गुजारा अच्छे से हो सके। 

उन्होंने कहा कि सरकार के पास हर किसी काम के लिए पैसे होते हैं लेकिन शिक्षकों को अपना वेतन लेने के लिए सड़क पर आना पड़ता है। 

एक सर्वे का हवाला देते हुए पप्पू ने कहा कि देश में कुत्तों पर 18 हजार रुपये खर्च होता है लेकिन एक आम व्यक्ति के परिवार की आमदनी चार से छह हजार रुपये है। 

उल्लेखनीय है कि पप्पू की जन अधिकार पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), समरस समाज पार्टी, समाजवादी जनता दल और नेशनल पीपुल्स पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। 

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button