राज्य

बिहार चुनाव: लालू, सुशील को निर्वाचन आयोग का नोटिस

पटना: केन्द्रीय निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद ) अध्यक्ष लालू प्रसाद और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी को आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में कारण बताओ नोटिस जारी किया।

दोनों नेताओं को छह अक्टूबर को अपराह्न् तीन बजे तक अपना पक्ष रखना होगा। निर्वाचन आयोग ने लालू प्रसाद को गुरुवार को जारी नोटिस में कहा, “27 सितम्बर को राघोपुर विधानसभा क्षेत्र के तेरसिया गांव में दिया गया आपका भाषण प्रथम दृष्टया जातिगत टिप्पणी कर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन प्रतीत होता है।” 

आयोग ने राजद अध्यक्ष से मंगलवार अपराह्न् तीन बजे तक स्पष्टीकरण मांगा है। 

गौरतलब है कि लालू प्रसाद पिछले दिनों अपने बेटे और राजद प्रत्याशी तेजस्वी यादव का चुनाव प्रचार करने वैशाली जिले के राघोपुर गए थे। 

वहां उन्होंने कहा था कि यह चुनाव अगड़ी और पिछड़ी की लड़ाई है। लालू ने एक विशेष जाति के लोगों से राजग को हराने की अपील भी की थी। 

उधर, भाजपा नेता सुशील मोदी को भी निर्वाचन आयोग ने नोटिस भेजकर कैमूर जिले के भभुआ में 28 सितम्बर को दिए भाषण पर स्पष्टीकरण मांगा है। 

मोदी को भेजे गए नोटिस में कहा गया, “भभुआ में 28 सितम्बर को दिया गया आपका भाषण आदर्श चुनाव आचार संहिता तथा लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 171 बी एवं 171 ई के तहत रिश्वत तथा भारतीय दंड संहिता(आईपीसी) की धारा 121 (1) के तहत भ्रष्ट आचरण की श्रेणी में आता है।” 

आयोग ने उनसे भी मंगलवार तक स्पष्टीकरण मांगा है। 

सुशील मोदी ने 28 सितम्बर को भभुआ में भाजपा उम्मीदवार आनंद भूषण पांडेय के नामांकन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा की सरकार बनने पर दलित बस्ती में लैपटॉप और टीवी बांटने की बात कही थी। 

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button