राज्य

अखिलेश ने मोदी को गौमांस निर्यात पर प्रतिबंध की दी चुनौती

Lucknow: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर लेते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज कहा कि ‘गुलाबी क्रांति ’ के खिलाफ बात करने वालों को गौमांस के निर्यात पर अब प्रतिबंध लगाना चाहिए क्योंकि अब वे सत्ता में हैं ।

उन्होंने साथ ही आरोप लगाया कि इस प्रकार के मुद्दे उठाकर  वे देश के ‘धर्मनिरपेक्ष’ चरित्र को बाधित करना चाहते हैं ।

राज्य के दादरी इलाके में ग्रामीणों द्वारा कथित रूप से गौमांस खाने को लेकर एक व्यक्ति को पीट पीट कर मार दिए जाने की घटना पर मचे बवाल के बीच अखिलेश ने आज अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि ‘हमारा धर्म और देश ’’ लोगों को अपनी इच्छानुसार जीवन जीने और उनके अधिकारों का सम्मान करने की अनुमति  देता है ।

उन्होंने कहा, ‘‘ इसमें अफवाह का कोई मतलब नहीं है लेकिन इसके कारण काफी कुछ हो सकता है । हमारा संविधान धर्मनिरपेक्षता पर आधारित है । हमारी योजनाएं इस सिद्धांत पर आधारित हैं लेकिन कुछ ताकतें माहौल को बिगाड़ना चाहती हैं ।’’ अखिलेश ने मोदी का परोक्ष रूप से जिक्र करते हुए कहा, ‘‘ वे इस प्रकार के मुद्दों को उछालना चाहते हैं । ये ताकतें गुलाबी क्रांति की बात करती हैं । आज हम कहेंगे…अब आप सरकार में हैं तो लगाइए गौमांस निर्यात पर प्रतिबंध । आपको गौमांस के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के लिए समर्थन जुटाना चाहिए।’’

मोदी ने लोकसभा चुनाव से पूर्व मांस निर्यात को लेकर तत्कालीन संप्रग सरकार को निशाने पर लिया था और कहा था कि वह ‘ गुलाबी क्रांति’ को प्रोत्साहित कर रही है ।

मोदी का नाम लिए बिना मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग विदेशों में जाकर देश की मार्केटिंग कर रहे हैं उन्हें सोचना चाहिए कि विदेशों में लोगों द्वारा किस प्रकार का भोजन खाया जाता है ।

अखिलेश ने कहा, ‘‘ जिस दुनिया में आप घूम रहे हैं , हमारे देश की मार्केटिंग कर रहे हैं… सिर्फ एक बार सोचिए कि वे लोग सुबह से शाम तक कैसा भोजन खाते हैं । इसलिए हमें एक दूसरे की रोजमर्रा की जिंदगी में हस्तक्षेप नहंी करना चाहिए।’’ 

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button