बोलबाज

लालू के अगड़े-पिछड़ों की लड़ाई के बयान पर भाजपा भड़की: पढ़े किसने क्या कहा

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद द्वारा बिहार चुनाव को अगड़े और पिछड़ों की लड़ाई बताए जाने पर विपक्ष ने जहां लालू की जमकर आलोचना की है, वहीं सत्तारूढ़ महागठबंधन में शामिल राजद की सहयोगी पार्टी जनता दल (युनाइटेड) लालू के समर्थन में खड़ी हो गई है।

राघोपुर विधानसभा क्षेत्र में अपने बेटे तेजस्वी यादव के समर्थन में सभा के दौरान लालू ने रविवार को कहा था कि इस चुनाव में लड़ाई अगड़े और पिछड़े वर्ग के बीच की है। ऐसे में दलितों और पिछड़ों को एक होने की जरूरत है। 

1. पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख जीतन राम मांझी: बिहार चुनाव में ‘विकास’ और ‘विनाश’ की लड़ाई है। चुनाव के समय सभी को पिछड़ा और अति पिछड़ा वर्ग याद आने लगा है। 

2. भाजपा के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह: लालू के लिए पिछड़ा केवल उनका परिवार है, जबकि भाजपा के साथ ‘मंडल’ और ‘कमंडल’ दोनों ही हैं। राघोपुर से भाजपा के जो उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, वह भी पिछड़े वर्ग से ही आते हैं। भाजपा के साथ भूपेन्द्र यादव, नंद किशोर यादव, रामकृपाल यादव जैसे कई वरिष्ठ नेता हैं। 

3. बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता नंदकिशोर यादव: लालू ऐसे बयानों से बिहार को विकास के मुद्दे से हटाना चाहते हैं। इस बयान को बिहार के लिए खतरनाक बताते हुए कहा कि लालू को न तो समाज की चिंता है और न ही बिहार की। लालू को बस अपने परिवार की चिंता है। लालू बिहार को फिर 15 वर्ष पूर्व में ले जाना चाहते हैं परंतु अब बिहार की जनता सबकुछ समझती है। 

4. जद (यू) के प्रवक्ता अजय आलोक: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के मोहन भागवत ने क्या बयान दिया था। उन्होंने तो संविधान में निहित आरक्षण व्यवस्था की ही समीक्षा करने की बात कह डाली थी, तब तो भाजपा के लोग चुप थे। 

SaraJhan News Desk

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button