राज्य

मुंबई पुलिस ने गणेशोत्सव के आखिरी दिन कोई भी अप्रिय घटना नहीं होना सुनिश्चित किया 

मुंबई: भगवान गणेश को अंतिम विदाई देने के लिए मुंबई की सड़कों पर लाखों श्रद्धालुओं के आज उतरने के बीच दिन समाप्त होने पर मुंबई पुलिस ने राहत की सांस ली क्योंकि प्रतिमा विसर्जन शांतिपूर्वक संपन्न हो गया।

पिछले 10 दिनों से गणेशोत्सव के दौरान पुलिस मुस्तैदी से खड़ी थी क्योंकि सुरक्षा के मामले में यह हमेशा चुनौती रहा है और खासतौर पर इस साल ईद का त्योहार भी इसी अवधि के दौरान पड़ा। 

हालांकि, आखिरकार बल ने राहत की सांस ली। 

डीसीपी एम दाहिकर ने कहा, कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। प्रतिमा विसर्जन :मुंबई में ज्यादातर विसर्जन समुद्र तट पर होता है: के दौरान कोई घायल नहीं हुआ। 

पुलिस ने गिरगांव चौपाटी, जुहू तट, पवई झील, दादर, माध जेट्टी, मार्वे जैसे बड़े विसर्जन स्थलों पर कई टीमों को तैनात किया था। निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया जबकि तटरक्षक बल के हेलिकॉप्टरों ने समुद्र तट की निगरानी की। 

त्योहार के अंतिम दिन सड़क पर 35 हजार 055 सहायक उपनिरीक्षक और कांस्टेबल, 4500 महिला कांस्टेबल के साथ-साथ 250 महिला अधिकारियों, 1000 राज्य आरक्षित पुलिस बल के जवानों और 250 आईटीबीपी के जवान आज सड़कों पर थे। 

प्रतिमा विसर्जन मार्गो पर वाहनों की निर्बाध आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए 50 सड़कों को बंद कर दिया गया था जबकि 55 सड़कों को वन वे कर दिया गया था।

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button