राज्य

म.प्र.: मंत्रालय के कार्य में सुधार के लिए बने नीति

भोपाल: अटलबिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान मंत्रालय के कार्यों में सुधार के लिए सुनियोजित नीति बनाये। उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने यह बात संस्थान की शासी निकाय की बैठक में कही।

बैठक में आदिमजाति कल्याण मंत्री श्री ज्ञान सिंह भी उपस्थित थे।

श्री गुप्ता ने कहा कि न्यायालय में जिन प्रकरणों में शासन के विरुद्ध फैसला होता है, उनका भी थर्ड पार्टी इवेल्युएशन करवाया जाये। उन्होंने कहा कि बड़े विभागों में लीगल सेल बनाने पर विचार किया जाये। श्री गुप्ता ने कहा कि संस्थान द्वारा जिन योजनाओं का थर्ड पार्टी इवेल्युएशन करवाया गया है, उनकी रिपोर्ट पर संबंधित विभाग के साथ चर्चा कर प्रभावी कदम उठाये जायें।

श्री गुप्ता ने कहा कि संस्थान अन्य देश और राज्य में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए किये जा रहे कार्यों का तुलनात्मक अध्ययन कर रिपोर्ट बनाये और इसे लागू करवाने का तरीका भी सुझाये। उन्होंने कहा कि जिलों में कलेक्टर-एस.पी. द्वारा किये जाने वाले नवाचार एवं अच्छे कार्यों को संस्थागत किया जाये। इससे अधिकारी बदलने के बाद भी वह कार्य जारी रहेंगे।

मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा ने कहा कि विश्वविद्यालयों में पी.एच-डी. करने वाले विद्यार्थियों को संस्थान में रिसर्च करने का अवसर दिया जाय।

संस्थान के महानिदेशक श्री पदमवीर सिंह ने संस्थान द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी। बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अजयनाथ, महानिदेशक प्रशासन अकादमी श्रीमती कंचन जैन, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री के.के.सिंह, सचिव श्री हरिरंजन राव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Krishanmohan Jha

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button