राज्य

सपा सरकार न हिंदुओं, न मुसलमानों की

लखनऊ: वाराणसी में साधु-संतों पर पुलिस के लाठीचार्ज की मजलिस-ए-उलमा-ए हिंद के महासचिव मौलाना सैयद कल्बे जव्वाद नकवी ने गुरुवार को कहा कि बनारस में साधु और संतों पर पुलिस के कायराना कार्रवाई की उनका संगठन कड़ी निंदा करता है।

उन्होंने कहा कि दरअसल राज्य सरकार धार्मिक नेताओं का अपमान करने पर आमादा है, इससे पहले लखनऊ में भी शिया उलमा पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था, जिसमें उलमा को गहरी चोटें आई थीं। 

मौलाना ने कहा कि यूपी सरकार धार्मिक नेताओं की दुश्मन है और उनका अपमान उसका आदर्श कार्य बन गया है। राज्य सरकार अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए जनता को दबाने और कुचलने पर आमादा है, मगर धार्मिक नेताओं पर लाठीचार्ज और उनकी मानहानि की सजा उन्हें 2017 में जरूर मिलेगी। 

मौलाना ने कहा कि राज्य सरकार हर मोर्चे पर विफल हो चुकी है, चाहे अल्पसंख्यकों से किए गए चुनावी वादे हों या फिर राज्य में कानून व्यवस्था बिगड़ने की समस्या।

मौलाना ने कहा कि बनारस में पुलिस ने साधु और संतों को इस तरह मारा, जैसे वे कोई बड़ा अपराध कर चुके हैं। इस सरकार का असली चेहरा अब सबके सामने आ चुका है। 

उन्होंने कहा कि सपा सरकार न हिंदुओं की है और न मुसलमानों की समर्थक है। इस पार्टी को केवल वोट चाहिए, चाहे जैसे भी मिले। 

मौलाना ने सभी मुसलमानों को ईद उल जुहा की मुबारकबाद दी और कहा कि इस पवित्र अवसर पर शांति के साथ कुर्बानी करें और अल्लाह की खुशनुदी हासिल ्रकरें।

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button