देश/विदेश

प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका में सफलता की एक और इबारत लिखी

वाशिंगटन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका दौरा राष्ट्रपति बराक ओबामा को गर्मजोशी के साथ गले लगाने, सिलिकॉन वैली में जोरदार स्वागत पाने और भारतीय प्रवासियों से प्रेमपूर्ण मुलाकात के साथ संपन्न हो गया।

ओबामा ने सोमवार को न्यूयॉर्क में अपने ‘अच्छे मित्र’ मोदी से एक घंटे की मुलाकात के बाद कहा कि ‘हमने हमारे संबंधों को बुलंद किया है। हमने दोनों देशों के बीच एक नई साझेदारी के लिए स्वयं को प्रतिबद्ध किया है।”

मोदी ने भी ओबामा की इस बात से सहमति जताई कि उन्होंने अपने द्विपक्षीय सहयोग और अंतर्राष्ट्रीय साझेदारी में महत्वपूर्ण प्रगति हासिल की है। उन्होंने एशिया प्रशांत और हिद महासागर क्षेत्र पर संयुक्त सामरिक दृष्टिकोण को आकार देने के लिए लाई गई प्रगति का स्वागत किया।

ओबामा ने कहा कि वह स्वच्छ ऊर्जा के प्रति मोदी के ‘आक्रामक रवैये’ से प्रेरित हुए हैं।

भारत के प्रधानमंत्री ने कहा कि वह और ओबामा मानवता की तरक्की की आकांक्षाओं को पूरा करने के उनके सामथ्र्य को प्रभावित किए बिना जलवायु परिवर्तन पर एक अटल प्रतिबद्धता रखते हैं।

ओबामा और विश्व के अन्य नेताओं के साथ हुई जबर्दस्त मुलाकात से परे मोदी के दौरे की सफलता का असल प्रमाण सिलिकॉन वैली में उनके द्वारा दिग्गज कारोबारियों और प्रौद्योगिकी के महारथियों को लुभाना है।

माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सत्या नडेला, गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई, दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी एप्पल के टिम कुक और फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग से लेकर हर कोई मोदी के डिजिटल ड्रीम का समर्थन करने का इच्छुक दिखा।

अगर पिचाई ने भारतभर में 500 रेलवे स्टेशनों तक वायरलेस इंटरनेट या वाईफाई लाने का प्रस्ताव रखा, तो नडेला ने पांच लाख गांवों में किफायती दर पर ब्रॉडबैंड लाने में भारतीय सरकार की मदद करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट की योजना का खाका तैयार किया।

वहीं, क्वालकॉम ने भारत को ‘एक डिजिटल सशक्त समाज और ज्ञान अर्थव्यवस्था में तब्दील करने के लिए’ भारत में 10 अरब रुपये देने का वादा किया।

यह उत्पाद नवीनता के लिए भारत में कई ‘डिजाइन हाउस’ भी स्थापित करेगा।

‘वाशिंगटन पोस्ट’ में लिखा गया है कि मोदी के अमेरिका दौरे ने सिलिकॉन वैली को दुनियाभर के नेताओं के लिए ‘एक जरूर देखी जाने वाली जगह’ और इस तकनीक के केंद्र के बढ़ते प्रभाव और आर्थिक शक्ति का संकेत बना दिया है।

अरुण कुमार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button