देश/विदेश

UN में नवाज शरीफ के भाषण से पहले पाकिस्तान ने कश्मीर राग अलापा

न्यूयॉर्क: संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाषण से एक दिन पहले पाकिस्तान ने भारत पर संघर्षविराम का उल्लंघन करने, जम्मू कश्मीर में दिखावटी चुनाव कराने का आरोप लगाया, वहीं राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की वार्ता रद्द होने की जिम्मेदारी भी भारत पर डाली।

विदेश मामलों और राष्ट्रीय सुरक्षा पर शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज ने साथ ही यह भी कहा कि उनका देश कश्मीर समेत सभी लंबित मुद्दों के समाधान के लिए बिना किसी पूर्व-शर्त के किसी भी स्तर पर भारत के साथ बातचीत को तैयार है।

इस्लामी सहयोग संगठन :ओआईसी: के जम्मू कश्मीर पर संपर्क समूह की यहां आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए अजीज ने कहा कि भारत ने नियंत्रण रेखा :एलओसी: और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बिना उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। उन्होंने इस मामले मंे निष्पक्ष जांच की मांग की।

उन्होंने कहा, हम ओआईसी संपर्क समूह से भारत पर संघर्षविराम उल्लंघन से परहेज करने का दबाव डालने का अनुरोध करते हैं। ये उल्लंघन क्षेत्र में शांति के लिए खतरा बन रहे हैं।

कश्मीर में जनमत-संग्रह कराने पर जोर देते हुए अजीज ने कहा, भारत लगातार बलपूर्वक सैन्य मौजूदगी के साथ जम्मू कश्मीर में दिखावटी चुनाव कराता रहता है।

उन्होंने भारत पर आरोप लगाया कि वह बल का कू्ररतापूर्ण इस्तेमाल कर कश्मीरियों के संघर्ष को दबाने की कोशिश कर रहा है । 

अजीज ने दावा किया, भारत जम्मू कश्मीर में गैर-राज्यीय, गैर-मुस्लिम विषयों के माध्यम से प्रदेश के भौगोलिक हुलिये को बदलने की कोशिश कर रहा है।

पिछले महीने रद्द हुई एनएसए स्तर की वार्ता के संबंध मंे अजीज ने कहा कि भारत ने कश्मीर के मुद्दे को एजेंडा से बाहर रखने पर जोर देकर और पाकिस्तान की हुर्रियत नेताओं से बातचीत का विरोध करके पूर्व-शर्तें रखी थीं।

उन्होंने कहा, पाकिस्तान जम्मू कश्मीर समेत सभी लंबित मुद्दों को सुलझाकर दीर्घकालिक शांति के लिए और एक दूसरे की चिंताओं पर ध्यान देने के लिए अपनी ओर से भारत के साथ बिना किसी पूर्व-शर्त के किसी भी स्तर पर बातचीत को तैयार है।

अजीज ने कहा कि पाकिस्तान इस मुद्दे के समाधान के लिए सकारात्मक और उद्देश्यपूर्ण वार्ता में भारत की साझेदारी का समर्थन करता है।

अजीज का बयान शरीफ के संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र में भाषण से एक दिन पहले आया है। समझा जाता है कि शरीफ भी कश्मीर मुद्दा उठा सकते हैं। 

योशिता सिंह

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button