देश/विदेश

भारत में बना सबसे बड़ा वारशिप ‘INS कोच्चि’ नौसेना में शामिल

मुंबई: रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज नौसेना के युद्धपोत आईएनएस कोच्चि का जलावतरण किया और कहा कि नौसेना ने अगले 15 साल के लिए स्वेदशी योजना का खाका तैयार किया है।

पर्रिकर ने यहां नौसेना की गोदी पर युद्धपोत पर संवाददाताओं से कहा, नौसेना ने अगले 15 साल के लिए स्वदेश विकास की योजना तैयार की है। रक्षा उत्पादन इकाइयों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और निजी क्षेत्र में नया उत्साह है।

उन्होंने कहा, हम एक वास्तविक समुद्री नौसेना विकसित करेंगे जो हिंद महासागर क्षेत्र पर प्रभाव रखेगी।

मंत्री ने प्रक्षेपास्त्र प्रणाली प्रौद्योगिकी के र्मोचे पर मिश्रित सफलता के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा, अगले पांच साल में मिसाइल प्रौद्योगिकी में बड़े स्तर पर स्वदेशीकरण होगा।

पर्रिकर ने कहा कि आईएनएस कोच्चि किसी विदेशी नौसैनिक पोत की तरह ही है। उन्होंने इसका निर्माण करने वालों की प्रशंसा की।

आईएनएस कोच्चि कोलकाता श्रेणी :परियोजना 15ए: के गाइडेड मिसाइल डेस्ट्रोयर्स में दूसरा युद्धपोत है। दिल्ली श्रेणी के विध्वंसक पोतों के बाद के क्रम में कोलकाता श्रेणी के तीन जहाजों का करार किया गया था। दिल्ली श्रेणी के युद्धपोत एक दशक से अधिक समय पहले नौसेना में शामिल किये गये थे।

इसे नौसेना के आंतरिक संगठन नौसैनिक डिजाइन निदेशालय ने डिजाइन किया है और मुंबई में मझगांव डॉक शिप बिल्डर्स लिमिटेड में इसका निर्माण किया गया है। बंदरगाह शहर कोच्चि के नाम पर इसका नामकरण किया गया है। 

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button