देश/विदेश

बांग्लादेश में घुसा ISIS, मारा गया इतालवी सहायताकर्मी

ढाका: उच्च सुरक्षा वाले राजनयिक इलाके में यहां इतालवी मूल का एक सहायताकर्मी मारा गया। बांग्लादेश में यह पहला हमला है, जिसकी जिम्मेदारी खूंखार आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट ने ली है।

पुलिस ने कहा कि 50 वर्षीय सी. तावेला को कल शाम के समय गुलशन बाजार राजनयिक क्षेत्र में बेहद करीब से उस समय गोली मारी गई, जब वह जॉगिंग कर रहे थे। 

पुलिस ने कहा कि तावेला के जमीन पर गिरने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। उन्हें पास के निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि तावेला नीदरलैंड आधारित आईसीसीओ कोऑपरेशन की परियोजना प्रॉफिटेबल ऑप्च्र्युनिटीज फॉर फूड सिक्योरिटी के प्रबंधक के रूप में काम कर रहे थे। 

ढाका के पुलिस आयुक्त ओहिदुज्जमान मियां ने संवाददाताओं को बताया, हम इस बात को लेकर स्पष्ट नहीं हैं कि उनकी हत्या किसने की लेकिन हमें लगता है कि यह हत्या पहले से नियोजित थी।

एक साथी अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की कि हत्यारे उनका धन वाला बैग या सेलफोन नहीं लेकर गए। इससे ऐसे संकेत मिलते हैं कि इसे साधारण डकैतों ने अंजाम नहीं दिया।

एसआईटीई खुफिया समूह ने कहा कि अरबी में लिखे एक जारी बयान में इस्लामिक स्टेट ने यह दावा किया कि तावेला को उसने मारा है। सुरक्षा अधिकारियों ने यहां कहा कि यह आतंकी समूह का बांग्लादेश में पहला हमला हो सकता है।

इसी बीच, अमेरिका और ब्रिटेन ने बांग्लादेश में रहने वाले अपने नागरिकों को सावधानी बरतने के लिए कहा है। 

वहीं ढाका सुरक्षा से जुड़ी हुई क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की चिंताओं को कम करने की कोशिश कर रहा है। 

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अपनी टीम के दौरे से पहले अपने बांग्लादेशी समकक्ष से आश्वासन मांग रहा है। इस साल की शुरूआत से अब तक चार धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगरों की बांग्लादेश में हत्या की जा चुकी है। 

अलकायदा से जुड़े आतंकी समूहों को इन निर्मम हत्याओं के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता रहा है। हालांकि यह पहली बार है, जब ISIS ने मुस्लिम बहुत बांग्लादेश में हमले की जिम्मेदारी ली है।  

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button