देश/विदेश

जनवरी 2016 से नेताजी से जुड़ी फाइलों को सार्वजनिक करने की प्रक्रिया शुरू होगी

नयी दिल्ली: नेताजी सुभाष चंद्र बोस से संबंधित गोपनीय फाइलों को केंद्र सरकार अगले साल 23 जनवरी से सार्वजनिक करना शुरू करेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नेताजी के परिजनों से मुलाकात के बाद यह घोषणा करते हुए कहा कि इतिहास को दबाने की जरूरत नहीं है।

मोदी ने कहा कि वह विदेशी सरकारों से भी उनके पास उपलब्ध नेताजी से जुड़ी फाइलें सार्वजनिक करने के लिए उन्हें पत्र लिखेंगे और व्यक्तिगत रूप से विदेशी नेताओं के साथ इस विषय को उठाएंगे जिसकी शुरूआत दिसंबर में रूस के साथ होगी।

सात दशकों से उलझे इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने आज उस समय यह घोषणा की, जब उन्होंने नेताजी के परिवार के 35 सदस्यों का यहां अपने सरकारी आवास पर स्वागत किया और उनसे एक घंटे तक बातचीत की।

बाद में मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘नेताजी से जुड़ी फाइलों को सार्वजनिक करने की प्रक्रिया 23 जनवरी, 2016 को सुभाष बाबू की जयंती से शुरू होगी।’’ उन्होंने एक और ट्वीट किया, ‘‘विदेशी सरकारों से भी उनके पास उपलब्ध नेताजी से संबंधित फाइलों को सार्वजनिक करने का अनुरोध करेंगे। दिसंबर में रूस के साथ इसकी शुरूआत करेंगे।’’ मोदी ने कहा, ‘‘इतिहास को दबाने की कोई जरूरत नहीं है। जो देश अपने इतिहास को भुला देते हैं उनमें इतिहास बनाने की क्षमता नहीं रह जाती।’’

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button