खासम-ख़ास

‘स्वच्छता दूत’ बनेगी रूठी बहू, घर में बनेगा शौचालय

बैतूल: मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के एक घर में शौचालय न होने पर रूठकर ससुराल छोड़ने वाली बहू को मनाने के लिए सोमवार से शौचालय का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। वहीं जिला प्रशासन ने इस युवती को ‘स्वच्छता दूत’ बनाने का ऐलान किया है।

शाहपुर विकास खंड के पतौवापुरा के चौकीपुरा गांव के मोहन पटेल की पत्नी सीमा ने ससुराल इसलिए छोड़ दी है, क्योंकि उसे खुले में शौच के लिए जाना पड़ता था। शौचालय बनाने की उसकी मांग जब पूरी नहीं की गई, तब वह ससुराल छोड़कर मायके में रहने लगी। बार-बार संवाद भिजवाने के बाद भी सीमा ससुराल वापस नहीं आई, तब उसके पति मोहन ने परिवार परामर्श केंद्र में गुहार लगाई।

शौचालय के लिए एक बहू के ससुराल छोड़ने की बात जब मीडिया में सुर्खियां बनने लगी, तब जिला प्रशासन हरकत में आया। 

सरपंच मंगीबाई उइके ने बताया कि रविवार को मजदूरों की छुट्टी रहती है, इसलिए सोमवार (5 अक्टूबर) से दो मिस्त्री और चार मजदूरों द्वारा शौचालय निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि अधिकतम पांच दिनों के भीतर शौचालय तैयार कर सीमा पटेल को मायके से ससुराल लाया जाएगा, ताकि वह ससम्मान जीवन यापन कर सके और भविष्य में भी स्वच्छता की इसी तरह अलख जगा सके।

जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर बी. पाटिल ने संवाददाताओं से कहा कि दलित महिला सीमा पटेल ने स्वच्छता की दिशा में अभूतपूर्व साहस दिखाया है। उसने जो कदम उठाया है, उसकी कल्पना नहीं की जा सकती। सीमा पटेल द्वारा किए गए इस अतुलनीय कार्य के लिए उसे जिले का स्वच्छता दूत बनाया जाएगा। इससे स्वच्छता अभियान को बल मिलेगा।

पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार जैन ने कहा कि सीमा बाई ने स्वच्छता की दिशा में जो साहस दिखाया है, उसको बयां नहीं किया जा सकता। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भी स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। सीमा के इस कदम से स्वच्छता अभियान और मजबूत होगा। 

रूठी बहू के लिए शौचालय के गुणवत्तापूर्ण निर्माण की निगरानी जिम्मेदारी उन्होंने एसडीओपी और थाना प्रभारी को सौंपी है।

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button