खासम-ख़ास

देश में सड़क हादसों की वजह से सर्वाधिक अप्राकृतिक मौतें

नई दिल्ली: देश में अप्राकृतिक मौत की सबसे बड़ी वजह सड़क हादसे हैं। डूबने और जहर खाने या खिलाने की वजह से होने वाली मौतों की संख्या भी कम नहीं है।

केंद्रीय सेहत अन्वेषण ब्यूरो ने बीते हफ्ते नेशनल हेल्थ प्रोफाइल-2015 नाम से अपनी रिपोर्ट जारी की है। इसमें बताया गया है कि 2013 में देश में 166,506 लोगों की जान सड़क हादसों में गई। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में सड़क हादसों में मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। इसमें बताया गया है कि 2005 में सड़क हादसों में 118,265 लोगों की मौत हुई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक 2013 में देश में डूबने की वजह से 30,041 लोगों की मौत हुई। जहर की वजह से 29249 लोगों की मौत हुई।

सबसे कम मौतें हवाई हादसों में हुईं। 2012 में 14 लोगों की मौत हवाई हादसों में हुई।

साल 2013 में अप्राकृतिक कारणों से 377,758 लोगों की मौत हुई। 

रिपोर्ट के मुताबिक साल 2000 में 108593 लोगों ने आत्महत्या की थी। 2013 में यह आंकड़ा बढ़ कर 134799 हो गया। 2013 में महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले कम आत्महत्या दर्ज की गई। 44256 महिलाओं ने आत्महत्या की जबकि 88453 पुरुषों ने आत्महत्या की।

रिपोर्ट में बताया गया है कि 2005 में गिरने की वजह 9132 लोगों की मौत हुई जबकि 2013 में यह आंकड़ा बढ़कर 12803 पर पहुंच गया।

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button