देश/विदेश

देश की कार्यशैली, जीवनशैली बदलेगा डिजिटल इंडिया: प्रधानमंत्री मोदी

सैन होजे (कैलिफोर्निया): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां डिजिटल इंडिया डिनर पर कहा कि उनकी सरकार का डिजिटल इंडिया कार्यक्रम देश के सुदूर हिस्सों के लोगों की जिंदगी में बदलाव लाएगा और देश की कार्यशैली में भी व्यापक परिवर्तन लाएगा।

प्रौद्योगिकी के प्रभाव की बात करते हुए मोदी ने कहा कि प्रौद्योगिकी की मदद से सरकार बड़े आंकड़ों से निपटने का जो काम पहले 24 घंटों में करती थी, वही काम अब 24 मिनटों में संभव है।

मोदी ने कहा डिजिटल इंडिया की मदद से सरकार शासन शैली में परिवर्तन लाएगी, उसे ज्यादा पारदर्शी, जवाबदेह, सुलभ और सहभागी बना पाएगी।

बेहतर शासन के लिए ई गवर्नेस के बाद अब एम गवर्नेस या मोबाइल गवर्नेस की बारी है।

मोदी ने कहा कि सरकार गैर कागजी लेन-देन को बढ़ाना चाहती है और इसके लिए हर नागरिक के लिए डिजिटल लॉकर स्थापित करने की योजना की घोषणा की गई, जिसमें निजि दस्तावेजों को रखा जा सके और विभिन्न विभागों में उनका इस्तेमाल किया जा सके। 

मोदी ने कहा ई-बिज पोर्टल का लक्ष्य उद्यमों और नागरिकों के लिए मंजूरी को सुगम और प्रभावी बनाना है। 

मोदी ने कहा हम अपनी सवा सौ करोड़ की जनता को डिजटल रूप से जोड़ना चाहते हैं। सरकार वाई-फाई हॉटस्पॉट्स का विस्तार कर रही है। 

मोदी ने घोषणा की कि गूगल बेहद जल्दी 500 रेलवे स्टेशनों में वाई-फाई सुविधा प्रदान करेगा। साथ ही मोदी ने ग्रामीण क्षेत्रों और शहरों में साझा सेवा केंद्रों की स्थापना करेगी और तकनीक की मदद से स्मार्ट शहर बसाएगी।

मोदी ने कहा कि उपलब्धता का अर्थ यह भी है कि पाठ्य सामग्री स्थानीय भाषाओं में उपलब्ध हो।

मोदी ने कहा, “मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया और डिजाइन इन इंडिया की परिकल्पना के अंतर्गत हम अच्छी गुणवत्ता और कम कीमत के उत्पाद को बढ़ावा देंगे। “

मोदी ने कहा कि विभिन्न सेवाओं को जोड़ने के साथ ही उनकी सरकार डाटा गोपनीयता और सुरक्षा, बौद्धिक संपदा अधिकार और साइबर सुरक्षा को अहमियत देगी।

तकनीकी दिगज्जों को अपनी इन योजनाओं में शामिल होने का न्योता देते हुए मोदी ने डिजिटल इंडिया को तकनीकी दिगज्जों के लिए अवसरों की एक बड़ी साइबर दुनिया बताया।

भारत और अमेरिका साझेदारी को इस सदी की महत्वपूर्ण साझेदारी बताते हुए मोदी ने कहा, “एशिया प्रशांत क्षेत्र इस सदी की दिशा तय करेंगे और भारत तथा अमेरिका इसके दो किनारे पर बसे हुए हैं।”

मोदी ने कहा, “हम पर इस क्षेत्र में शांतिपूर्ण, स्थिर और संपन्न भविष्य की जिम्मेदारी है।”

AGENCY

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button