देश/विदेश

RSS ने कहा-पाकिस्तान तो हमारा भाई, सरकार मजबूत करे उससे रिश्ते

 आरएसएस ने पाकिस्तान को भारत का छोटा भाई बताते हुए उससे बेहतर रिश्ते रखने पर जोर दिया है। संघ ने कहा है कि हमारे पड़ोसी देश हमसे ही टूट कर अलग हुए हैं। संघ ने बीते 14 महीनों में मोदी सरकार के कामकाज को भी अच्छा बताया है। बीजेपी लीडरशिप और संघ नेताओं के बीच को-ऑर्डिनेशन कमेटी की मीटिंग शुक्रवार को खत्म हो गई। इसके बाद संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने मीडिया से बातचीत की।
पड़ोसियों से अच्छे रिश्तों की जरूरत
होसबोले ने कहा कि जिन लोगों या पड़ोसियों का इतिहास और भूगोल हमारे जैसा है, उनसे हमारे रिश्ते अच्छे होने चाहिए। भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर चल रहे तनाव पर संघ नेता ने कहा, “एक फैमिली और भाइयों के बीच ऐसा होता रहता है और रिश्ते सुधारने की कोशिश होनी चाहिए।” उन्होंने आगे कहा, “भारत के इतिहास की ही बात करें तो कौरव और पांडव भी तो भाई ही थे। हमें धर्म संस्थापना की कोशिश करते रहनी चाहिए।” होसबोले से पाकिस्तान की तरफ से की जा रही भड़काऊ हरकतों पर सवाल किया गया था। धर्म आधारित जनगणना (religion census) पर संघ की बैठक में विचार किया गया, लेकिन इस पर लंबी चर्चा नवंबर में रांची में होने वाली संघ की मीटिंग में होगी।
पीएम मोदी बोले, संघ के संस्कारों की वजह से यहां हूं
मीटिंग के आखिरी दिन पीएम मोदी भी इसमें शामिल हुए। मोदी ने अपने 15 मिनट के भाषण में कहा कि वह आज जहां हैं, वह संघ के संस्कारों की बदौलत ही संभव हुआ है। पीएम ने कहा कि सरकार ने काफी काम किए हैं और संघ को देश की जनता को इन्हें बताना चाहिए। मोदी ने कहा, “अभी काफी काम किया जाना बाकी है, हम देश के आखिरी आदमी तक पहुंचना चाहते हैं, सरकार के कामकाज के नतीजे जल्द ही नजर आएंगे।”
संघ भी खुश
संघ भी मोदी सरकार के काम से खुश है। होसबोले ने कहा, “केवल 14 महीने गुजरे हैं और अभी काफी वक्त है, लेकिन उतना ही काम भी किया जाना है। अब तक जो किया गया है, वह सही डायरेक्शन में है। सरकार के कामकाज से सभी को 100 फीसदी तसल्ली मिलनी चाहिए।” होसबोले ने विपक्ष के इस आरोप को गलत बताया कि सरकार का रिमोट कंट्रोल संघ के पास है। दरअसल, कांग्रेस और बाकी विपक्ष सरकार पर यह आरोप इसलिए लगा रहा है, क्योंकि संघ की बैठक में पीएम और बाकी मिनिस्टर शामिल हुए थे। संघ ने ये भी कहा कि इस मीटिंग में सरकार के कामकाज का रिव्यू नहीं किया गया। होसबोले ने कहा, “हम कोई गैरकानूनी संगठन नहीं हैं, हम इसी देश के नागरिक हैं। हमें भी मंत्रियों से सवाल पूछने का हक है, क्योंकि वो भी स्वयंसेवक ही हैं।”
भागवत भी खुश
सूत्रों के मुताबिक, संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी मोदी सरकार के कामकाज पर तसल्ली जताई और संघ तथा सरकार के बीच को-ऑर्डिनेशन पर जोर दिया। संघ ने सरकार से एजुकेशन और रोजगार के मुद्दों पर ज्यादा काम करने को कहा। मेडिकल सुविधाएं सुधारने पर भी संघ का फोकस रहा।
राहुल गांधी ने साधा निशाना
दूसरी ओर, कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने एक ट्वीट के जरिए पीएम मोदी पर निशाना साधा। राहुल ने लिखा है कि मोदी जी को ऐसी ताकतें तो नजर आती हैं जो दूसरों पर कब्जा जमाने की कोशिश करती हैं, लेकिन उन्हें वो ताकतें नजर नहीं आ रही हैं जो उन्हें कंट्रोल कर रही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button