राज्य

’पिन स्ट्राइक बैटल’ के सातवें संस्करण के ग्रांड फिनाले का आयोजन

गुड़गांव: पीवीआर ब्लूओ, भारत के सबसे बड़े बोलिंग गंतव्य, द्वारा रैपिड मेट्रो के सहयोग में गुड़गांव के पीवीआर ब्लूओ में आयोजित किए गए कार्पोरेट बोलिंग टूर्नामेंट के सातवें संस्करण में काॅर्पोरेट दिग्गजों के बीच शानदार मुकाबला देखने को मिला।

गुड़गांव में हुए ’पिन स्ट्राइक नेशनल्स’ के सातवें संस्करण के ग्रांड फिनाले में 16 टीमों ने हिस्सा लिया और टीम अ©रिंक्स विजेता बनकर उभरी। विजेता टीम को रैपिड मेट्रो द्वारा स्मरणीय वस्तुयें प्रदान की गईं, उन्हें भव्य पुरस्कार के रूप में लूफ्थांसा के सौजन्य से यूरोप टूर और होटल रैडिसन ब्लू में ठहरने के पैकेज के साथ एक्सओएक्सओ की तरफ से लग्जरी गिफ्ट हैंपर दिए गए। टीम र क कैपिंटल और टीम बैनेटन टूर्नामेंट की पहली और दूसरी उपविजेता टीमें रहीं। उपविजेताओं को अन्य तोहफों के अलावा फायरफाॅक्स बाइक्स भी प्रदान की गईं।

फाइनल में जगह बनाने वाली प्रमुख कंपनियों में – मेक माइ ट्रिप, फिडिलिटी वल्र्डवाइड इंक, मोटोरोला, आरके कैपिटल, बेनेटन, रेलिगेयर, आॅरेकल, विजयंत फैसिलिटी सर्विसेज, आॅरिक्स और सैपिएंट नाइट्रो शामिल हैं। 

पांच सप्ताह तक चले इस टूर्नामेंट की शुरूआत 10 सितंबर को हुई और इसका आयोजन प्रत्येक गुरुवार की शाम किया गया। टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला 8 अक्टूबर को था। टूर्नामेंट में चार केंद्रों-गुड़गांव, बेंगलुरू, चंडीगढ़ और पुणे की 300 से अधिक कार्पोरेट टीमों का आमना-सामना हुआ। टीम के प्रत्येक सदस्य को विभिन्न सहयोगी ब्रांडों जैसे कि फायरफाॅक्स, केसियो, रैडिसन, क्लब महिंद्रा, एक्सओएक्सओ और अन्य की ओर से आकर्षक वस्तुएं और तोहफे दिए गए। 

श्री राजीव बंगा, प्रबंध निदेशक व सीईओ, आइएलएंडएफएस रेल लिमिटेड ने विजेताओं को ट्राॅफी प्रदान करते हुये कहा, ‘’हमें भारत के सबसे बड़े एमेचर कार्पोरेट बोलिंग टूर्नामेंट के सातवें संस्करण का हिस्सा बनकर बहुत प्रसन्नता हो रही है। मैं विजेताओं को बधाई देता हूं जिन्होंने बहुत ही बेहतरीन प्रदर्शन किया। रैपिड मैट्रो ने हमेशा दिल्ली-एनसीआर के युवाओं और कार्पोरेट कंपनियों के साथ जुड़ने का लक्ष्य तय किया है।‘‘

विजेताओं को बधाई देते हुए श्री विशाल साहनी, सीईओ, पीवीआर ब्लूओ ने कहा, ‘‘मैं टीम — को बेहतरीन मुकाबले और शानदार जीत के लिए बधाइयां देता हूं। कार्पोरेट बोलिंग टूर्नामेंट के सातवें संस्करण में दिल्ली-एनसीआर के कार्पोरेट्स का जबर्दस्त जमावड़ा देखने को मिला। फाइनल में पहुंची शीर्ष 16 टीमों का उत्साह अद्भुत था। एक महीने से अधिक समय तक चली इस लंबी प्रतियोगिता में हमें टीमों द्वारा कुछ शानदार प्रयास देखने को मिले।  हम टूर्नामेंट के लिए अपने सभी साझीदारों को धन्यवाद देते हैं और आशा करते हैं कि आने वाले सालों में भी हमारा और उनका साथ बना रहेगा।‘‘ 

SaraJhan News Desk

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button