देश/विदेश

अमेरिका-भारत रणनीतिक वार्ता की शुरुआत सीईओ फोरम से

वाशिंगटन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की तीसरी शिखर बैठक से पहले यहां सोमवार को अमेरिका-भारत सीईओ फोरम के साथ रणनीतिक और वाणिज्यिक वार्ता शुरू होगी।

द्विपक्षीय संबंधों में निजी क्षेत्र की भूमिका बढ़ाने के लिए अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय सीईओ फोरम आयोजित कर रहा है। दोनों देशों ने अगले पांच वर्षो में आपसी व्यापार को पांच गुना बढ़ाकर 50 करोड़ डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य तय किया है।

यह फोरम दोनों देशों के निजी क्षेत्रों को कार्यक्रम में शामिल करने का प्रमुख मंच है। उनकी सलाह नीति चर्चा को दिशा देने का काम करती है।

सीईओ फोरम के ही एक हिस्से के तौर पर कार्नेगी एंडोमंट फॉर इंटरनेशनल पीस सोमवार को एक कार्यक्रम -अमेरिका-भारत आर्थिक संबंध : उड़ान भरने के लिए तैयार?- का आयोजन करेगा, जिसमें द्विपक्षीय संबंधों में गहराई लाने की कोशिशों पर दोनों देशों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी चर्चा करेंगे।

भारत की वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण और अमेरिका के वाणिज्य मंत्री पेनी प्रिट्जकर चर्चा से पहले कारोबारी अधिकारियों को संबोधित करेंगे।

भारत की ओर से चर्चा में हिस्सा लेने वालों में बायोकॉन की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक किरण मजुमदार-शॉ, टाटा संस के अध्यक्ष साइरस पी. मिस्त्री और भारती एंटरप्राइजेज के संस्थापक और अध्यक्ष सुनील भारती मित्तल शामिल होंगे।

अमेरिका की ओर से एईसीओएम के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी माइकल एस. बर्क, हनीवेल के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड एम. कोट, वारबर्ग पिनकस के सह-मुख्य कार्यकारी अधिकारी चार्ल्स आर. काए जैसे कारोबारी अधिकारी हिस्सा लेंगे।

चर्चा का संचालन बोइंग के बोर्ड अध्यक्ष डब्ल्यू. जेम्स मैकनर्नी जूनियर करेंगे।

सोमवार शाम अमेरिका के उपराष्ट्रपति जो बिडेन, विदेश मंत्री जॉन केरी और भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज एक अमेरिकी कारोबारी सम्मेलन में शिरकत करेंगे।

दोनों देशों के कई अन्य वरिष्ठ सरकारी और कारोबारी अधिकारी भी अमेरिका-भारत व्यापार परिषद के 40वें वार्षिक सालाना नेतृत्व सम्मेलन को संबोधित करेंगे।

मंगलवार को एक मंत्रालयी पूर्ण सत्र के साथ रणनीतिक वार्ता शुरू होगी, जिसकी अध्यक्षता संयुक्त रूप से स्वराज और केरी करेंगे।

इसके अलावा भारतीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल और अमेरिकी ऊर्जा मंत्री एर्नी मोनिज के दिशानिर्देशन में ऊर्जा वार्ता होगी। इसके साथ ही आधिकारिक स्तर की एक स्वास्थ्य वार्ता होगी और जलवायु परिवर्तन पर भारत-अमेरिका संयुक्त कार्य समूह की बैठक होगी।

इस साल जनवरी में ओबामा की भारत यात्रा के दौरान ओबामा और मोदी ने आपसी रणनीतिक वार्ता का विस्तार रणनीतिक और वाणिज्यिक वार्ता में करने का फैसला किया था।

मोदी बुधवार को न्यूयार्क पहुंचेंगे। इस यात्रा में मोदी न्यूयार्क में निवेशकों से भी मिलेंगे और सिलिकॉन वैली की भी यात्रा करेंगे।

मोदी अगले सोमवार को ओबामा से मिलेंगे, जो इस आठ दिवसीय वार्ता के चरण का आखिरी दिन होगा।

अरुण कुमार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button